अपने घर में ज्यादा असुरक्षित हैं दिल्ली की महिलाएं



दिल्ली पुलिस के आंकड़ों के अनुसार देश की राजधानी में 86.73 फीसदी महिलाओं का घर में दुष्कर्म हुआ, जिनमें से 53.02 फीसदी मामलों में उन महिलाओं के परिचित और रिश्तेदार शामिल हैं।
आंकड़ों की माने तो 39.88 फीसदी छेड़छाड़ की घटनाओं को घरों में अंजाम दिया गया है, जबकि 39.25 फीसदी मामले सड़क पर हुए।

दिल्ली पुलिस के अनुसार वर्ष 2014 की तुलना में 15 दिसंबर तक दुष्कर्म की घटनाओं में कमी आई है। आंकड़ों के अऩुसार पिछले साल 2014 में दुष्कर्म के 2166 मामले दर्ज किए गए थे।
वर्ष 2015 में 2095 मामले सामने आए हैं। इस वर्ष दुष्कर्म के मामलों में चौंकाने वाली बात यह है कि सिर्फ 3.39 फीसदी मामले ऐसे हैं जिसमें अंजान शख्स ने दुष्कर्म को अंजाम दिया।

दुष्कर्म के 53.02 फीसदी मामलों में रिश्तेदार और पारिवारिक दोस्त शामिल हैं, जबकि 16.47 फीसदी मामलों में पड़ोसी, 2.10 फीसदी मामलों में सहकर्मी और 25.01 फीसदी पहचान वाले शामिल हैं।
वहीं, 25.10 फीसदी ऐसे मामले हैं जिसमें लिव-इन-रिलेशन में रहने के बाद शादी से इंकार करने पर दुष्कर्म की शिकायत दर्ज करवाई गई।

#दिल्ली पुलिस, #दिल्ली पुलिस आयुक्त, #भीमसेन बस्सी, #महिलाएं, #सुरक्षित, #असुरक्षित, #लिव-इन-रिलेशन, #दुष्कर्म

Leave A Comment

  • Linked In
  • FaceBook
  • RSS

Enter your email address:

ये भी पढ़ें

फोटो गैलरी

Photo Gallery